Thursday , November 26 2020

Zakhm Shayari

Zakhm Shayari Status Quotes Poetry

 

Zakhm Shayari ( ज़ख्म शायरी ) – ज़ख्म शायरी मोहब्बत के उन दीवानो के लिए हैं जिन्होंने मोहब्बत में ज़ख्म खाये और उस ज़ख्म का दर्द आज तक सह रहे हैं। सच कहते हैं लोग हर ज़ख्म का इलाज मुमकिन हैं लेकिन मोहब्बत के ज़ख्म का इलाज़ मुमकिन नहीं। इस इश्क़ में चोट खाये आशिक अंदर ही अंदर अपने घुट घुट कर मरने लगता हैं दिखने में तो वो ज़िंदा होता हैं हक़ीक़त तो ये होता हैं वो एक चलती फिरती लाश बन जाता हैं। इसी लिए कहा जाता हैं इश्क के ज़ख्म का इलाज इश्क़ ही हैं और कुछ नहीं।

पेश है ‘Zakhm / ज़ख्म’ पर विश्व प्रसिद्ध शायरों के अल्फ़ाज जो आपके ज़ख्मों का उतना दर्द तो काम नहीं करेगा लेकिन कुछ शब्दों के जरिये मरहम जरूर लगा देगा ।।