Wednesday , December 2 2020

Samandar Shayari

Samandar Shayari

 

Samandar Shayari ( समंदर शायरी ) – “समंदर” शब्द को सुनते ही मन में हलचल सी हो जाती है। हजारों सालों से लोग इसके रहस्यों को जानने में लगे हैं लेकिन “समंदर” अपने गर्भ में न जाने क्या-क्या समेटे हुए है। इश्क़ का रूहानी एहसास समुंदर, ख्वाब और दरिया जैसे शब्दों के साथ और गहरा हो जाता है। शायरों के लिए “समंदर” या “सागर” बड़े बिंब और प्रतीक के रूप में उभरते हैं। आज हम पाठकों के लिए पेश कर रहे हैं “समंदर” पर शायरों के अल्फ़ाज