Friday , November 27 2020

Musafir Shayari

Musafir Shayari Image

 

Musafir Shayari ( मुसाफिर शायरी ) – दुनिया जैसे कोई बच्चा जन्म लेता है उसका सफ़र शुरू हो जाता है। मनुष्य का जीवन अपने आप में एक यात्रा है और वह उस सफ़र का मुसाफिर। सबकी अपनी-अपनी मंज़िलें हैं और सबके अपने-अपने रास्ते। शायरों ने इन रास्तों और मुसाफ़िरों पर रौशनी डाली है।

 

पेश है ‘मुसाफ़िरों’ पर शायरों के अल्फ़ाज़-