Mulaqaat Shayari

Mulaqaat Shayari Image

 

Mulaqaat Shayari ( मुलाक़ात शायरी ) – महबूब से मुलाकात की उम्मीद शायराने मिज़ाज को रचनात्मक ऊर्जा देती है। मुलाक़ात सिर्फ एक सुखद अनुभूति ही नहीं है, कई तरह के दर्द में मरहम भी है। इश्क़ में जुदाई के दिनों में मुलाक़ात उम्मीद भी है, तो रिश्तों के संतुलन में एक ज़रूरत भी।

 

पेश है “मुलाकात” पर चुनिंदा शायरों के अल्फ़ाज़-