Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend 2 Line

Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend 2 Line

इश्क़, वफा और ईमान का मिश्रण ही नहीं है, बेवफ़ाई के किरदार भी प्रेम कहानियों में कई मोड़ देते है। उर्दू और हिंदी शायरी अग़र मोहब्बत के हर्फों से फटी पड़ी है तो बेवफ़ाई की मौजूदगी को भी शायरों ने नज़र अंदाज नहीं किया है। दोस्तों आज का यह पोस्ट खास उन दोस्तों के लिए जिन्हे वफ़ा के बदले बेवफाई मिली हैं। प्यार के बदले सिर्फ और सिर्फ रुस्वाई मिली हैं।

Bewafa Shayari In Hindi

Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend 2 Line का यह कलेक्शन आपको जरूर पसंद आएगा इसमें मिलेगा Bewafa Shayari In Hindi ! Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend ! Bewafa Poetry In Hindi ! Bewafa Poetry SMS ! Bewafa Poetry In Urdu 2 Lines ! Bewafa Shayari Status ! Hindi Shayari Bewafa Sanam ! Dard Bhari Bewafa Shayari ! Bewafa Quotes ! Bewafa Shayari Images जो आपके दर्द को ज्यादा कम तो नहीं कर सकता लेकिन आराम जरूर देगा ।

 

पेश है “बेवफा शायरी” पर शायरों के अल्फ़ाज़ हिंदी में…

 

Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend 2 Line

 

Kuch to majburiyan rahi hongi,
Yun koi bewafa nahi hota.

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी,
यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता !

 

Tum ne kiya na yaad kabhi bhul kar humein,
Hum ne tumhari yaad mein sab kuch bhula diya.

तुम ने किया न याद कभी भूल कर हमें,
हम ने तुम्हारी याद में सब कुछ भुला दिया !

 

Hum se kya ho saka mohabbat mein,
Khair tum ne to bewafai ki.

हम से क्या हो सका मोहब्बत में,
ख़ैर तुम ने तो बेवफ़ाई की !

 

Ek ajab haal hai ki ab us ko,
Yaad karna bhi bewafai hai.

एक अजब हाल है कि अब उस को,
याद करना भी बेवफ़ाई है !

 

Kaam aa saki na apni wafayein to kya karein,
Us bewafa ko bhul na jayein to kya karein.

काम आ सकीं ना अपनी वफ़ाएं तो क्या करें,
उस बेवफा को भूल ना जाएं तो क्या करें !

 

Dil bhi gustakh ho chala tha bahut,
Shukr hai ki yaar hi bewafa nikla.

दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत,
शुक्र है की यार ही बेवफा निकला !

 

Sirf ek hi baat sikhi in husan walon se humne,
Haseen jis ki jitni adaa hai woh utna hi bewafa hai.

सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,
हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है !

 

Bewafa Shayari In Hindi For Girlfriend 2 Line

Band kar dena khuli aankhon ko meri aa ke tum,
Aks tera dekh kar kah de na koi bewafa.

बंद कर देना खुली आँखों को मेरी आ के तुम,
अक्स तेरा देख कर कह दे न कोई बेवफा !

 

Is kadr musalsal thi shidatein judaai ki,
Aaj pahli bar us se maine bewafai ki.

इस क़दर मुसलसल थीं शिद्दतें जुदाई की,
आज पहली बार उस से मैं ने बेवफ़ाई की !

 

Mil hi jayega koi na koi tut ke chahne wala,
Ab shehar ka shehar to bewafa ho nahi sakta.

मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता !

 

Roye kuch is tarah se mere jism se lipat ke,
Aisa laga ke jaise kabhi bewafa na the wo.

रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लिपट के,
ऐसा लगा के जैसे कभी बेवफा न थे वो !

 

Bewafa Shayari Status

Chala tha zikr zamane ki bewafai ka,
Sau aa gaya hai tumhara khayal waise hi.

चला था ज़िक्र ज़माने की बेवफ़ाई का,
सो आ गया है तुम्हारा ख़याल वैसे ही !

 

Mohabbat ka natija duniya mein humne bura dekha,
Jinhe dava tha wafa ka unhen bhi humne bewafa dekha.

मोहब्बत का नतीजा दुनिया में हमने बुरा देखा,
जिन्हें दावा था वफ़ा का उन्हें भी हमने बेवफा देखा !

 

Tera khayal dil se mitaya nahi abhi,
Bewafa maine tujhko bhulaya nahi abhi.

तेरा ख्याल दिल से मिटाया नहीं अभी,
बेवफा मैंने तुझको भुलाया नहीं अभी !

 

Aashiqi mein bahut zaruri hai,
Bewafai kabhi kabhi karna.

आशिक़ी में बहुत ज़रूरी है,
बेवफ़ाई कभी कभी करना !

 

Dard Bhari Bewafa Shayari

Rushwa kyu karte ho tum ishq ko aye duniya walo,
Mehboob tumhara bewafa hai to ishq ka kya gunah.

रुशवा क्यों करते हो तुम इश्क़ को ए दुनिया वालो,
मेहबूब तुम्हारा बेवफा है तो इश्क़ का क्या गनाह !

 

Woh mili bhi to kya mili ban ke bewafa mili,
Itane to mere gunah na the jitni mujhe saza mili.

वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली !

 

Khuda nee puchha kya saza dun us bewafa ko,
Dil ne kaha mohabbat ho jaye use bhi.

खुदा ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,
दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी !

 

Bewafaon ki is duniya mein sanbhalkar chalna,
Yhan mohabbat se bhi barbaad kar dete hain log.

बेवफाओं की इस दुनियां में संभलकर चलना,
यहाँ मुहब्बत से भी बर्बाद कर देते हैं लोग !

 

Bewafai pe teri jo hai fida,
Kahar hota jo ba-wafa hota.

बेवफ़ाई पे तेरी जी है फ़िदा,
क़हर होता जो बा-वफ़ा होता !

 

Kisi ka ruth jana aur achanak bewafa hona,
Mohabbat mein yehi lamha qayamat ki nishani hai.

किसी का रूठ जाना और अचानक बेवफा होना,
मोहब्बत में यही लम्हा क़यामत की निशानी है !

 

Fir se niklenge talash-e-zindagi mein,
Dua karna is baar koi bewafa na mile.

फिर से निकलेंगे तलाश-ए-ज़िन्दगी में,
दुआ करना इस बार कोई बेवफा न मिले !

 

Itni mushkil bhi na thi raah meri mohabbat ki,
Kuch zamana khilaaf hua kuch woh bewafa huye.

इतनी मुश्किल भी न थी राह मेरी मोहब्बत की,
कुछ ज़माना खिलाफ हुआ कुछ वो बेवफा हुए !

 

Hindi Shayari Bewafa Sanam

Suno ek baar mohabbat karni hai tumse,
Lekin is baar bewafai hum karenge.

सुनो एक बार और मोहब्बत करनी है तुमसे,
लेकिन इस बार बेवफाई हम करेंगे !

 

Uski bewafai pe bhi fida hoti hai jaan apni,
Agar us mein wafa hoti to kya hota khuda jane.

उसकी बेवफाई पे भी फ़िदा होती है जान अपनी,
अगर उसमे वफ़ा होती तो क्या होता खुदा जाने !

 

Meri mohabbat sachchi hai is liye teri yaad aati hai,
Agar teri bewafai sachchi hai to ab yaad mat aana.

मेरी मोहब्बत सच्ची है इसलिए तेरी याद आती है,
अगर तेरी बेवफाई सच्ची है तो अब याद मत आना !

 

Jab tak na lage bewafai ki thhokar dost,
Har kisi ko apni pasand par naaz hota hai.

जब तक न लगे बेवफ़ाई की ठोकर दोस्त,
हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है !

 

Meri aankho se behne wala ye awara sa aansoo,
Punchh raha hai palkon se teri bewafai ki wajah.

मेरी आँखों से बहने वाला ये आवारा सा आसूँ,
पूंछ रहा है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह !

 

Tujhe hai mashq-e-sitam ka malaal waise hi,
Humari jaan hain jaan par wabaal waise hi.

तुझे है मशक-ए-सितम का मलाल वैसे ही,
हमारी जान थी, जान पर वबाल वैसे ही !

 

Na koi majburi hai na to lachari hai,
Bewafai uski paidayshi bimari hai.

न कोई मज़बूरी है न तो लाचारी है,
बेवफाई उसकी पैदायशी बीमारी है !

 

Dil bhi toda to saliqe se na toda tum ne,
Bewafai ke bhi aadab hua karte hain.

दिल भी तोड़ा तो सलीक़े से न तोड़ा तुम ने,
बेवफ़ाई के भी आदाब हुआ करते हैं !

 

Bewafa Quotes

Mohabbat se bhari koi ghazal use pasand Nnhi,
Bewafai ke har sher pe wo daad diya karte hain.

मोहब्बत से भरी कोई गजल उसे पसंद नहीं,
बेवफाई के हर शेर पे वो दाद दिया करते हैं !

 

Har bhul teri maaf ki teri har khata ko Bhula diya,
Gham hai ki mere pyar ka tu ne bewafai sila diya.

हर भूल तेरी माफ़ की तेरी हर खता को भुला दिया,
गम है कि मेरे प्यार का तूने बेवफाई सिला दिया !

 

Mere fan ko tarasha hai sabhi ke nek iraadon ne,
Kisi ki bewafai ne kisi ke jhuthhe wadon ne.

मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,
किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने !

 

Hum use yaad bahut aayenge,
Jab use bhi koi thukrayega.

हम उसे याद बहुत आएँगे,
जब उसे भी कोई ठुकराएगा !

Udh gayi yun wafa zamane se,
Kabhi goya kisi mein thi hi nahi.

उड़ गई यूँ वफ़ा ज़माने से,
कभी गोया किसी में थी ही नहीं !

 

Mere baad wafa ka dhokha aur kisi se mat karna,
Gaali degi duniya tujh ko sar mera jhuk jayega.

मेरे बाद वफ़ा का धोखा और किसी से मत करना,
गाली देगी दुनिया तुझ को सर मेरा झुक जाएगा !

 

Bewafa Poetry In Hindi

Tum kisi ke bhi ho nahi sakte,
Tum ko apna bana ke dekh liya.

तुम किसी के भी हो नहीं सकते,
तुम को अपना बना के देख लिया !

 

Ye kya ki tum ne jafa se bhi haath khinch liya,
Meri wafaon ka kuch to sila diya hota !

ये क्या कि तुम ने जफ़ा से भी हाथ खींच लिया,
मेरी वफ़ाओं का कुछ तो सिला दिया होता !

 

Wafa ki khair manata hun bewafai mein bhi,
Main us ki qaid mein hun qaid se rihai mein bhi.

वफ़ा की ख़ैर मनाता हूँ बेवफ़ाई में भी,
मैं उस की क़ैद में हूँ क़ैद से रिहाई में भी !

 

Hum ne to khud ko bhi mita dala,
Tum ne to sirf bewafai ki.

हम ने तो ख़ुद को भी मिटा डाला,
तुम ने तो सिर्फ़ बेवफ़ाई की !

 

Gila likhun main agar teri bewafai ka,
Lahu mein gark safina ho aasnai ka.

गिला लिखूँ मैं अगर तेरी बेवफ़ाई का,
लहू में ग़र्क़ सफ़ीना हो आश्नाई का !

 

Jo mila us ne bewafai ki,
Kuch ajab rang hai zamane ka

जो मिला उस ने बेवफ़ाई की,
कुछ अजब रंग है ज़माने का !

 

Umeed un se wafa ki to khair kije,
Jafa bhi karte nahi wo kabhi jafa ki trah.

उमीद उन से वफ़ा की तो ख़ैर क्या कीजे,
जफ़ा भी करते नहीं वो कभी जफ़ा की तरह !

 

Tum jafa par bhi to nahi qayem,
Hum wafa umar bhar karein kyun kar.

तुम जफ़ा पर भी तो नहीं क़ाएम,
हम वफ़ा उम्र भर करें क्यूँ-कर !

 

Bewafa Shayari / Poetry / Status / Quotes / Sms

 

About skpoetry

>> Sk Poetry - All The Best Poetry Website In Hindi, Urdu & English. Here You Can Find All Type Best, Famous, Memorable, Popular & Evergreen Collections Of Poems/Poetry, Shayari, Ghazals, Nazms, Sms, Whatsapp-Status & Quotes By The Top Poets From India, Pakistan, Iran, UAE & Arab Countries ETC. <<

Read These Poems Too..

Subh Ke Dard Ko Raaton Ki Jalan Ko Bhulen..

Subh Ke Dard Ko Raaton Ki Jalan Ko Bhulen.. Jan Nisar Akhtar Poetry ! Subh …

Wo Log Hi Har Daur Mein Mahbub Rahe Hain..

Wo Log Hi Har Daur Mein Mahbub Rahe Hain.. Jan Nisar Akhtar Poetry ! Wo …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven + 10 =