Monday , January 25 2021

Aansoo / Ashk Shayari

Aansoo/Ashk Shayari Photo, Tears Poetry PhotoAansoo/Ashk Shayari – आंसू इंसानी जज़्बातों का वो हिस्सा हैं, जो ग़म और ख़ुशी, दोनों ही स्थितियों गिरते हैं। कभी-कभी आंखें नम हो जाती हैं, कभी-कभी पनीली, शायर आंखों की भाषा आसानी से पढ़ लेता है। आंसू जब शायर के हिस्से आता है और शायरी में ढलता है तब वह कैसा होता है, यह बताने के लिए हम पेश कर रहे हैं ‘आंसू’ पर कुछ चुनिंदा शेर –

December Jab Se Aaya Hai Mere Khaamosh Kamre Mein

  December jab se aaya hai mere khaamosh kamre mein.., Mere bistar pe bikhri sab kitaabein bhig jaati hain..!! दिसंबर जब से आया है मेरे खामोश कमरे में.., मेरे बिस्तर पे बिखरी सब किताबें भीग जाती हैं..!!        

Read More »