Home / Manzil Shayari

Manzil Shayari

manzil shayari image

 

Manzil Shayari – हर इंसान को अपनी ‘मंजिल’ की तलाश है, मंजिल की जूस्तुजू के चलते ही वह अपना जीवन सफर में झोंक देता है। लेकिन कोई मंजिल आखिरी नहीं, मंजिलें जहां ख़त्म होंगी, वहां जीवन थम सा जाता है। और जीवन रुकने का नाम नहीं है, चलने का नाम है। पेश है ‘मंजिल’ पर शायरों के अल्फ़ाज़-